दुनिया में सबसे महंगा हो सकता है भारत में होने वाला 2019 का आम चुनाव

2014 के आम चुनाव के मुकाबले इस बार दोगुनी राशि खर्च होने का अनुमान

वाशिंगटन। भारत का चुनाव आयोग लोकसभा की 543 सीटों के लिए चुनाव कार्यक्रम का जल्द एलान कर सकता है। अमेरिका के एक विशेषज्ञ ने दावा किया है कि भारत में इस साल होने वाला आम चुनाव ना सिर्फ भारतीय इतिहास बल्कि दुनिया के किसी भी लोकतांत्रिक देश में होने वाले चुनावों में सबसे महंगा हो सकता है। 2014 के आम चुनाव के मुकाबले इस बार दोगुनी राशि खर्च होने का अनुमान है।

भारत का चुनाव आयोग लोकसभा की 543 सीटों के लिए चुनाव कार्यक्रम का जल्द एलान कर सकता है। कार्नेगी एंडोमेंट फॉर इंटरनेशनल पीस थिंक टैंक में साउथ एशियन प्रोग्राम के निदेशक मिलन वैष्णव ने कहा कि अमेरिका के राष्ट्रपति और संसदीय चुनावों पर संयुक्त रूप से 6.5 अरब डॉलर (करीब 46 हजार करोड़ रुपये) खर्च हुए। भारत में 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में पांच अरब डॉलर (करीब 35 हजार करोड़ रुपये) खर्च होने का अनुमान है। 2019 के चुनाव में यह आंकड़ा बहुत ज्यादा होगा, जिससे भारत का यह चुनाव दुनिया में सबसे महंगा हो जाएगा।

चंदे को लेकर शून्य है पारदर्शिता
वैष्णव ने कहा कि भारत में राजनीतिक योगदान को लेकर पारदर्शिता शून्य है। यह पता लगाना असंभव है कि किस व्यक्ति ने किस नेता या पार्टी को चंदा दिया या किसी नेता को अपने चुनावी फंड के लिए पैसा कहां से मिला? ऐसे बहुत कम दानकर्ता हैं जो अपनी सियासी चंदे को सार्वजनिक करना चाहते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

उप्र में अपने ही सब इंस्पेक्टर को पकड़ने पहुंची CBI टीम को ग्रामीणों ने दौड़ाकर पीटा

Sat Feb 23 , 2019
नोएडा। यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (Yamuna Expressway Industrial Development Authority) क्षेत्र में हुए 126 करोड़ रुपये के जमीन खरीद घोटाले की जांच के लिए पहुंचे ग्रेटर नोएडा के सुनपुरा गांव में केंद्रीय जांच एजेंसी (CBI) अधिकारियों को ग्रामीणों ने दौड़ा-दौड़ा कर पीटा है। पूरा मामला थाना इकोटेक तीन क्षेत्र […]
The villagers rushed to the CBI team which reached their own sub inspector in UP