लू के थपेड़ों से झुलसा प्रदेश, 18 शहरों में भीषण गर्मी

भोपाल में पिछले 10 वर्ष में दूसरी बार मार्च में लू की स्थिति बनी
भोपाल। लू के थपेड़ों से प्रदेश झुलसने लगा है। इसी क्रम में शनिवार को गर्मी के तेवर और तीखे हो गए। राजधानी सहित 18 स्थानों पर लू चली। भोपाल में अधिकतम तापमान 40.8 डिग्री से. दर्ज किया गया, जो सामान्य से 5 डिग्री से. अधिक रहा। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक भोपाल में पिछले 10 वर्ष में दूसरी बार मार्च में लू की स्थिति बनी है।

मौसम केंद्र के मुताबिक गुजरात व राजस्थान में भीषण गर्मी पड़ रही है। मौसम विज्ञानी उदय सरवटे के मुताबिक, गर्म हवाओं की वजह से मप्र में भीषण गर्मी पड़ना शुरू हो गई है। शनिवार को सबसे अधिक तापमान खरगोन, खजुराहो और दमोह में 43 डिग्री दर्ज किया गया। भोपाल, बैतूल, धार, गुना, ग्वालियर, होशंगाबाद, खरगोन, शाजापुर, उज्जैन, छिंदवाड़ा, दमोह, जबलपुर, खजुराहो, मंडला, नौगांव, सागर, टीकमगढ़ और उमरिया लू की चपेट में रहे।

इंदौर में भी लू की आशंका : सुबह 7 से 1.30 बजे तक लगेंगे स्कूल
पिछले दो दिन से शहर में अधिकतम तापमान 40 डिग्री से अधिक बना हुआ है। न्यूनतम तापमान 21.4 डिग्री है। अगले दिनों में लू की आशंका को देखते हुए स्कूलों के समय में बदलाव किया है। डीईओ के निर्देशानुसार इंदौर के शासकीय, अशासकीय व सीबीएसई से संबंधित स्कूल 1 से 30 अप्रैल तक सुबह 7 से 1.30 बजे तक ही संचालित होंगे। गौरतलब है कि अभी प्रायमरी व मिडिल के कई सरकारी स्कूल सुबह 10.30 से 4.30 बजे और हाई स्कूल, हायर सेकंडरी 10.30 से 5.30 बजे तक लग रहे थे।

खरगोन देश में सबसे गर्म, पारा 44.50 पर पहुंचा
भारतीय मौसम विभाग के अनुसार खरगोन देश में सबसे गर्म रहा। यहां पारा 44.50 पर रहा। भोपाल में दिन का तापमान सामान्य से 50 ज्यादा रहा। इसमें शुक्रवार के मुकाबले 0.70 की बढ़ाेतरी हुई। यहां रविवार को भी ऐसी तपिश रहने के आसार है। मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि भोपाल संभाग समेत निमाड़, विंध्य, बुंदेलखंड और महाकौशल में गर्म हवा चली।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

अप्रैल माह में चैत्र नवरात्रि के साथ नव संवत्सर का भी हो जायेगा आरंभ

Mon Apr 1 , 2019
14 अप्रैल को मनाई जायेगी राम नवमी अप्रैल में चैत्र माह की प्रतिपदा से भारतीय नव वर्ष यानी कि नव संवत्सर की शुरुआत होती हैं। मान्यता है कि इसी दिन ब्रह्माजी ने सृष्टि का निर्माण किया था। इस वर्ष ये दिन 6 अप्रैल को पड़ रहा है। चैत्र नवरात्रि के […]
In the month of April, there will be a new consolidation with Chaitra Navaratri.