दिल की बीमारियों के साथ कैंसर में भी फायदेमंद है तुलसी

Tulsi is also beneficial in cancer with heart diseases

कई गंभीर समस्याओं को ठीक किया जा सकता है तुलसी से
घर में तुलसी का पौधा से देवी-देवताओं की विशेष कृपा

प्राचीन काल से ही यह परंपरा चली आ रही है कि घर में तुलसी का पौधा होना चाहिए। शास्त्रों में तुलसी को पूजनीय, पवित्र और देवी स्वरूप माना गया है, इस कारण घर में तुलसी हो तो कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए। यदि ये बातें ध्यान रखी जाती हैं तो सभी देवी-देवताओं की विशेष कृपा हमारे घर पर बनी रहती है। घर में सकारात्मक और सुखद वातावरण बना रहता है, पैसों की कमी नहीं आती है और परिवार के सदस्यों को स्वास्थ्य लाभ प्राप्त होता है। तुलसी ऐसा पौधा है जो अमूमन हर घर में पाया जाता है। तुलसी को बेसिल लीव्स के नाम से भी जाना जाता है. तुलसी का पौधा अपने दिव्य गुणों के लिए प्रतिष्ठित है, तुलसी से कई गंभीर समस्याओं को ठीक किया जा सकता है। किडनी स्टोन को खत्म करने के साथ-साथ तुलसी त्वचा को साफ करने में भी मददगार है। इन फायदों के अलावा तुलसी के और भी कई फायदें हैं।

शास्त्रों के अनुसार बताई गई तुलसी के संबंध में 10 खास बातें

1. इन दिनों में नहीं तोड़ना चाहिए तुलसी के पत्ते-
शास्त्रों के अनुसार तुलसी के पत्ते कुछ खास दिनों में नहीं तोड़ने चाहिए। ये दिन हैं एकादशी, रविवार और सूर्य या चंद्र ग्रहण काल। इन दिनों में और रात के समय तुलसी के पत्ते नहीं तोड़ने चाहिए। बिना उपयोग तुलसी के पत्ते कभी नहीं तोड़ने चाहिए। ऐसा करने पर व्यक्ति को दोष लगता है। अनावश्यक रूप से तुलसी के पत्ते तोड़ना, तुलसी को नष्ट करने के समान माना गया है।

2. रोज करें तुलसी का पूजन-
हर रोज तुलसी पूजन करना चाहिए के साथ ही यहां बताई जा रही सभी बातों का भी ध्यान रखना चाहिए। साथ ही, हर शाम तुलसी के पास दीपक लगाना चाहिए। ऐसी मान्यता है कि जो लोग शाम के समय तुलसी के पास दीपक लगाते हैं, उनके घर में महालक्ष्मी की कृपा सदैव बनी रहती है।

Tulsi is also beneficial in cancer with heart diseases
Tulsi is also beneficial in cancer with heart diseases

3. तुलसी से दूर होते हैं वास्तु दोष-
तुलसी घर-आंगन में होने से कई प्रकार के वास्तु दोष भी समाप्त हो जाते हैं और परिवार की आर्थिक स्थिति पर शुभ असर होता है।

4. तुलसी का पौधा घर में हो तो नहीं लगती है बुरी नजर-
ऐसी मान्यता है कि तुलसी का पौधा होने से घर वालों को बुरी नजर प्रभावित नहीं कर पाती है। साथ ही, सभी प्रकार की नकारात्मक ऊर्जा सक्रिय नहीं हो पाती है। सकारात्मक ऊर्जा को बल मिलता है।

5. तुलसी का सूखा पौधा नहीं रखना चाहिए घर में-
यदि घर में लगा हुआ तुलसी का पौधा सूख जाता है तो उसे किसी पवित्र नदी में या तालाब में या कुएं में प्रवाहित कर देना चाहिए। तुलसी का सूखा पौधा घर में रखना अशुभ माना जाता है।

Read:- बालों की समस्या को दूर करना है तो मीठी नीम का करें उपयोग

6. सूखा पौधा हटाने के बाद तुरंत लगा लेना चाहिए तुलसी का दूसरा पौधा-
एक पौधा सूख जाने के बाद तुरंत ही दूसरा तुलसी का पौधा लगा लेना चाहिए। सूखा हुआ तुलसी का पौधा घर में होने से बरकत पर बुरा असर पड़ सकता है। इसी वजह से घर में हमेशा पूरी तरह स्वस्थ तुलसी का पौधा ही लगाया जाना चाहिए।

7. तुलसी है औषधि भी-
तुलसी का धार्मिक महत्व तो है, साथ ही आयुर्वेद में इसे संजीवनी बुटि के समान माना जाता है। तुलसी में कई ऐसे गुण होते हैं जो कई बीमारियों को दूर करने और उनकी रोकथाम करने में सहायक हैं। तुलसी का पौधा घर में रहने से उसकी सुगंध वातावरण को पवित्र बनाती है और हवा में मौजूद बीमारी फैलाने वाले कई सूक्ष्म कीटाणुओं को नष्ट कर देती है।

8. रोज तुलसी की एक पत्ती सेवन करने से मिलते हैं ये फायदे-
तुलसी की सुंगध हमें श्वास संबंधी कई रोगों से बचाती है। साथ ही, तुलसी की एक पत्ती रोज सेवन करने से हम सामान्य बुखार से बचे रहते हैं। मौसम परिवर्तन के समय होने वाली स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों से बचाव हो सकता है। तुलसी की पत्ती सेवन करने से हमारे शरीर की रोगप्रतिरोधक क्षमता काफी बढ़ जाती है, लेकिन हमें नियमित रूप से तुलसी की पत्ती का सेवन करते रहना चाहिए।

9. तुलसी के पत्ते चबाना नहीं चाहिए-
तुलसी के पत्तों का सेवन करते समय ध्यान रखना चाहिए कि इन पत्तों को चबाए नहीं बल्कि निगल लेना चाहिए। इस प्रकार तुलसी का सेवन करने से कई रोगों में लाभ प्राप्त होता है। तुलसी के पत्तों में पारा धातु के तत्व भी विद्यमान होते हैं जो कि पत्तों को चबाने से दांतों पर लग जाते हैं। ये तत्व दांतों के लिए फायदेमंद नहीं है। अत: तुलसी के पत्तों को बिना चबाए निगलना चाहिए।

10. शिवलिंग और गणेश पूजन में वर्जित है तुलसी के पत्ते-
यूँ तो पूजन में तुलसी का विशेष महत्तव है पर शिव पूजन और गणेश पूजन में तुलसी का प्रयोग वर्जित है। इसके लिए पुराणो में दो कथा बताई गई है। एक कथा के अनुसार भगवान शिव ने तुलसी के पति दैत्यों के राजा शंखचूड़ का वध किया था, जिसके फलस्वरूप न तो शिव पूजन में तुलसी काम में लेते है और नाहि शंख से शिवलिंग पर जल चढ़ाते है। जबकि एक अन्य कथा के अनुसार एक बार गणेशजी ने तुलसी का विवाह प्रस्ताव यह कह कर अस्वीकार कर दिया की वो ब्रह्मचारी है जिससे रुष्ट होकर तुलसी ने उन्हें दो विवाह का श्राप दे दिया, प्रतिक्रिया स्वरुप गणेश जी ने तुलसी को एक राक्षस से विवाह का श्राप दे दिया। इसलिए गणेश पूजन में भी तुलसी का प्रयोग वर्जित है।

तुलसी के कुछ किफायती फायदों के बारे में

बुखार से दिलाता है निजात
बुखार में तुलसी बहुत फायदेमंद होती है। ये एंटीबैक्टीरियल और एंटीबायोटिक होता है। मलेरिया के दौरान होने वाले बुखार को दूर करने में तुलसी बहुत फायदेमंद है। आयुर्वेद में बुखार से पीडि़त व्यक्ति को तुलसी की पत्तियां खाने की सलाह दी जाती है।

डायबिटीज से भी बचाता है
तुलसी से इंसुलिन की संवेदनशीलता को बढ़ाया जा सकता है। अगर ब्लड शुगर कम है तो इसका इलाज तुलसी से किया जा सकता है।

दिल संबंधी समस्याओं से दिलाता है छुटकारा
औषधीय गुणों से भरपूर तुलसी दिल संबंधी समस्याओं को भी दूर करता है। इससे ना सिर्फ कॉलेस्ट्रॉल को नियंत्रि‍त किया जा सकता है बल्कि ब्लड प्रेशर को भी ये कंट्रोल करने की क्षमता रखता है। रोजाना खाली पेट तुलसी की कुछ पत्तियां चबाने से दिल की बीमारियों से बचा जा सकता है।

Rad:- नीम के 101 औषधीय फायदे, जिन्हें अपनाने से जीवन होगा सुगम

तनाव को करता है दूर
सेंट्रल ड्रग्स रिसर्च इंस्टीट्यूट की रिसर्च के मुताबिक, तुलसी से स्ट्रेस हार्मोंन को नॉर्मल किया जा सकता है। रक्त के प्रवाह को सामान्‍य करने में भी तुलसी बहुत मददगार है, जो लोग बहुत ज्यादा तनाव में रहते हैं उन्‍हें दिन में 2 बार तुलसी की 12 पत्तियां चबानी चाहिए।

कैंसर से बचाता है
भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट होने के कारण ब्रेस्ट कैंसर और ओरल कैंसर से बचने के लिए तुलसी खाना फायदेमंद है।

बालों और त्वचा को बनाता है सुंदर
तुलसी में पाए जाने वाले तत्वों से त्वचा को खूबसूरत बनाया जा सकता है. इतना ही नहीं, एक्‍ने से बचाने और त्वचा को फ्रेश रखने में भी तुलसी फायदेमंद है। बालों से खुजली को मिटाना हो या झड़ते बालों को रोकना हो तुलसी दोनों में फायदेमंद है. नारियल के तेल में तुलसी मिलाकर लगाने से बालों की खुजली मिटती हैं और बाल नहीं झड़ते।

सिरदर्द करता है दूर
एलर्जी, साइनस, जुकाम और सिरदर्द जैसी समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए तुलसी का सेवन करना चाहिए। तुलसी की पत्तियों को पीसकर पानी में मिलाकर गर्म करें और सामान्‍य तापमान पर आने पर तौलियों पर ये पानी रखकर सिर में लगाएं. चुटकियों में सिरदर्द भाग जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *