बालों की समस्या को दूर करना है तो मीठी नीम का करें उपयोग

To remove the problem of hair, use of sweet neem

बालों की समस्या को दूर करना है तो मीठी नीम का करें उपयोग
करी पत्ता मीठी नीम सेहत के लिए बेहद फायदेमंद

बहुत ही कम लोगों को मालूम है कि करी पत्तों का इस्तेमाल खाने के अलावा और दूसरे कामों में भी किया जाता है। करी पत्ते जैसे खाने का स्वाद बढ़ाते हैं वैसे ही आपके चेहरे की सुंदरता की रौनक को भी बढ़ाते हैं। करी पत्तों का एक और फायदा यह है कि यह बालों की समस्याओं को भी दूर करता है।

यूँ तो भारत में हर घर की रसोई घर में काम आने वाले मसाले सब्जी ड्राई फ्रूट फल का अपना विशेष महत्व है जो की खाने के स्वाद के साथ साथ हमारी स्वास्थ्य का भी विशेष ध्यान रखते हैं आज उसी श्रृंखला में हम करी पत्ता के बारे में बात करेंगे ! करी पत्ता यह हमारी सेहत को भी दुरूस्त रखने में मददगार है। इसे ‘मीठी नीम’ भी कहा जाता है। इसके पत्तों में कई सारे औषधीय गुण भी पाए जाते हैं। करी पत्ते बालों को काला करने में मददगार साबित होते हैं। इनका नियमित उपयोग करने से आपके बालों में जान आ जाएगी और वह काले होने लगेंगे। बालों के लिए उसके और भी कई फायदे हैं आइए जानते हैं…

बालों को सफेद होने से रोकना

करी पत्ते में वो सारे पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो बालों को स्वस्थ रखते हैं। इन पत्तों को पीस कर लेप बना लें। फिर इसे सीधे बालों की जड़ों में लगाएं। आप करी पत्तों को खा भी सकते हैं, इससे आपके बाल काले, लंबे और घने हो जाएंगें। साथ ही, बालों की जड़ें भी मज़बूत होंगी। करी पत्ता में विटामिन बी1, बी3, बी9, और सी होता है। इसके अलावा इसमें आयरन, कैल्शियम और फॉस्फोरस पाया जाता है। इसके रोज़ाना सेवन से आपके बाल काले लंबे और घने होने लगेंगे। यही नहीं डैंड्रफ की समस्या भी नहीं होगी।

Read:- तेज दिमाग करने और वजन घटाने में बेहद फायदेमंद है आंवला

करी पत्ता का इस्तेमाल

करी पत्तों को सूखा लें। सूखने के बाद पत्तों का पाउडर बना लें। अब 200 एम एल नारियल के तेल में या फिर जैतून के तेल में लगभग 4 से 5 चम्मच करी पत्तों का पाउडर मिक्स कर के उबाल लें। अच्छे से उबलने के बाद तेल को ठंडा होने के लिए रख दें। फिर तेल को छानकर किसी एयर टाइट बोतल में भर कर रख लें। सोने से पहले रोज रात को यह तेल लगाएं। यदि इस तेल को गुनगुना कर लगाया जाए तो जल्दी असर दिखेगा। अगली सुबह बालों को नेचुरल शैंपू से धो लें।बहुत लाभ मिलेगा।

To remove the problem of hair, use of sweet neem
To remove the problem of hair, use of sweet neem
बालों के लिए बनाएं मास्क
करी पत्तों को पीसकर पेस्ट बना लें। इसमें थोड़ा दही मिलाएं और अपने बालों पर लगाएं। अब मिश्रण को बालों में 20-25 मिनट के लिए छोड़ दें, फिर शैंपू से बालों को धो दें। ऐसा नियमित रूप से करने पर बाल काले और घने हो होने लगेंगे।

करी पत्ते की चाय बनाएं
करी पत्ते को पानी में उबाल लें। अब इसमें एक नींबू निचोड़ लें और चीनी मिलाएं। इस तरह चाय बनाकर एक हफ्ते तक पिएं। यह चाय आपके बालों लंबा, घना, बनाएगी। साथ ही, बालों को सफ़ेद होने से बचाएगी। साथ ही, डायजेस्टिव सिस्टम को भी स्वस्थ रखेगी।

करी पत्तों का तेल बनाने का तरीका
करी पत्तों को पहले सूखा लें। अब नारियल का तेल लें उसे गरम करें। फिर सुखे हुए करी पत्तों को गरम नारियल तेल में डालें और इसे तब तक गरम होने दें जब तक नारियल तेल का रंग न बदलने लगे। अब इसे ठंडा कर लें। और करी पत्तों को इस तेल में हाथों से मैश करें। इस तेल को छानकर आप इसे किसी बोतल में रख लें। और इसका इस्तेमाल करें।

Read:- शहद खाओ सेहत बनाओ, जानें शहद के फायदे

करी पत्ता से चेहरे की चमक बढ़ाना
पुराने समय से ही चेहरे पर प्राकृतिक ग्लो लाने के लिए करी पत्तों का इस्तेमाल किया जाता रहा है। करी पत्ते चेहरे की रौनक और रंगत को बढ़ाते हैं। इसका इस्तेमाल आप फेस पैक के रूप में भी कर सकते हो। यह चेहरे की समस्याएं जैसे चेहरे का रूखापन और फाइन लाइन को दूर करता है।

करी पत्तों का फेस पैक बनाने का तरीका
धूप में करी पत्तों को सुखा लें और उन्हें महीन पीसकर इसका पाउडर बना लें। अब इसमें गुलाबजल और थोड़ी सी मुलतानी मिट्टी को मिला लें और नारियल तेल या कोई भी तेल इसमें मिला लें। अब आप इसे चेहरे पर लगाकर 20 मिनट के लिए छोड़ दें। फिर ठंडे पानी से चेहरा साफ कर लें।

करी पत्ता से पिंपल और एक्ने से दिलाए निजात
ज्यादातर महिलाएं पिंपल्स से परेशान रहती हैं और इस वजह से वे कहीं नहीं जा पाती हैं। लेकिन अब करी पत्ते आपको इस समस्या से ज्लद ही छुटकारा दिलवाएगें और चेहरा साफ और सुंदर भी बनेगा।

करी पत्ता कैसे करें प्रयोग
हरी करी पत्तों को पानी से अच्छे से साफ करें और इसे मिक्सर ग्राइंडर में डालकर पीस लें। अब इस पेस्ट में थोड़ा सा नींबू का रस मिलाएं। और चेहरे पर पिंपल व एक्ने वाली जगह पर लगाएं। 15 मिनट तक लगाकर इसे पानी से धो लें। कुछ दिनों तक एैसा करने से एक्ने और पिंपल की समस्या जड़ से खत्म हो जाएगी।

रूसी और झड़ते बालों के लिए
रूसी और झड़ते बालों की समस्या दूर करने के लिए करी पत्ता बेहद उपयोगी और कारगर उपाय है। करी पत्तों के इस्तेमाल से बाल तो बढ़ते ही हैं साथ ही साथ बालों से डैंड्रफ यानि रूसी भी चली जाती है। आइये आपको बताते हैं कैसे करें करी पत्ते का इस्तेमाल। थोड़े से करी पत्ते लें और दूध के साथ घोटकर उसका लेप तैयार कर लें फिर इस लेप को सिर के बीचों बीच यनि स्कैल्प पर से लगाना शूरू कर दें। अब इसे 20 मिनट तक सूखने दें। फिर साधे पानी से सिर धो लें। एैसा कुछ हप्तों तक करने से बाल वापस उगने लगेगें और रूसी भी खत्म हो जाएगी। करी पत्ते प्राकृति का अनमोल वस्तु है। इसलिए इसका प्रयोग करना त्वचा और सेहत दोनों के लिए ही बेहद फायदेमंद है।

Read :- कमर दर्द, गठिया और जोड़ों के दर्द से छुटकारा दिलाएं मैथी के लड्डू

करी पत्ता के भोजन में प्रयोग के फायदे
1. पेट संबंधी रोगों में करी पत्तों का इस्तेमाल फायदेमंद होता है। इसके लिए इसे दाल मे तड़का लगाते समय या साउथ इंडियन फूड बनाते समय भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
2. भोजन में करी पत्ते के प्रयोग से पाचन क्रिया भी दुरूस्त रहती है।
3. करी पत्ता मोटापे की समस्या को दूर करता है। रोजाना इन पत्तों को चबाने से वजन कम होता है।
4. मुंह में छाले और सिरदर्द की समस्या में ताजा करी पत्तों को चबाने से लाभ होता है।
5. करी पत्ते में आयरन, कैल्शियम और फॉस्फोरस भरपूर मात्रा में होता है जिससे इन्हें प्रयोग करने से बाल सफेद नहीं होते।
6. यह सीने से कफ को बाहर निकालता है। लाभ के लिए एक चम्मच शहद को एक चम्मच करी पत्ते के रस में मिलाकर प्रयोग करें।
7. कुछ करी पत्तों को पीसकर इसमें नींबू की कुछ बूंदे और थोड़ी चीनी मिलाकर खाने से उल्टी की तकलीफ में राहत मिलती है।
8. नियमित रूप से इन पत्तों का प्रयोग डायबीटिज के रोगियों के लिए भी फायदेमंद है।

ब्रिटेन के वैज्ञानिकों को सबूत मिले हैं कि दुनिया के कई हिस्सों में पारंपरिक तौर पर इस्तेमाल होने वाले पौधे कैंसर और मधुमेह जैसी बीमारियों के इलाज में मदद कर सकते हैं. लंदन के किंग्स कॉलेज के शोधकर्ताओं ने भारत, थाइलैंड, घाना और चीन में पारंपरिक तौर पर इस्तेमाल किए जाने पौधों पर शोध किया है।
भारत में पाए जाने वाला करी पत्ता मधुमेह से ग्रस्त रोगियों के इलाज में मदद कर सकता है।
शोध से पता चला कि करी पत्ता ख़ून में ग्लुकोस की मात्रा पर नियंत्रण पाने में मदद करता है।
थाइलैंड और चीन में चिकित्सा के लिए इस्तेमाल होने वाले कुछ पौधों पर किए शोध से पता चला कि वे फेफड़ो के कैंसर से ग्रस्त रोगियों के इलाज में सहायता करता है।

ये पौधे कैंसर के कोशाणुओं को बढ़ने से रोकता है. विशेषज्ञों का कहना है कि ऐसा पहले बार पाया गया कि ये पौधे और इनका पारंपरिक इस्तेमाल बीमारियों के इलाज में मदद कर सकता है. प्राकृति ने हमें बहुत सी अनमोल वस्तु दी हैं जिनमे करी पत्ता का अपना ही महत्व है। इसलिए इसका प्रयोग करना त्वचा और सेहत दोनों के लिए ही बेहद फायदेमंद है। आप अपने आंगन में या किसी जगह पर करी पत्तों के पेड़ लगा सकते हैं और इसके फायदे उठा सकते हैं। आप अपने आंगन में या किसी जगह पर करी पत्तों के पेड़ लगा सकते हैं और इसके फायदे उठा सकते हैं।