प्रधानमंत्री मोदी ने बिहार को दिया 33 हजार करोड़ की योजनाओं का तोहफा

Prime Minister Modi gifted 33 thousand crores of gifts to Bihar

पटना। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को बिहार को 33 हजार करोड़ से अधिक की योजनाओं का तोहफा दिया। इसके लिए वे विशेष विमान से पटना एयरपोर्ट, फिर एयरपोर्ट से वे बरौनी पहुंचे। वहां उन्‍होंने सबसे पहले बरौनी रिफाइनरी की क्षमता विस्‍तार परियोजना का शिलान्‍यास किया। फिर, उन्‍होंने एक-एक कर अन्‍य योजनाओं का भी शिलान्‍यास व उद्घाटन किया। इसके पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पटना एयरपोर्ट पर राज्‍यपाल लालजी टंडन, मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार व उपमुख्‍यमंत्री सुशील मोदी ने स्‍वागत किया। इसके कुछ देर बाद प्रधानमंत्री हेलीकॉप्‍टर से बरौनी पहुंचे। प्रधानमंत्री के साथ राज्यपाल लालजी टंडन, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार व उपमुख्‍यमंत्री सुशील मोदी भी पहुंचे। वहां पहले से केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान, रविशंकर प्रसाद, रामकृपाल यादव तथा गिरिराज सिंह सहित कई मंत्री पहले से उपस्थित हैं।

मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने कही ये बात
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि वे बिहार की ऐतिहासिक भूमि पर बिहार वासयों व बिहार सरकार की तरफ से प्रधानमंत्री का स्‍वागत व अभिनन्‍दन करते हैं। 12 करोड़ की बिहार की आबादी है। यहां मेट्रो रेल प्रोजेक्‍ट की इच्‍छा सबकी थी। हमने प्रयास किया और प्रधानमंत्री का समर्थन मिला। अब यह सपना साकार होगा। बरौनी में फर्टिलाइजर फैक्‍ट्री फिर से खोलने के लिए प्रधानमंत्री को धन्‍यवाद।
नीतीश कुमार ने कहा कि पुलवामा में आतंकियों की हरकत का देश जबरदस्‍त बदला लेगा। प्रधानमंत्री ने स्‍पष्‍ट कहा है कि इस घटना के लिए देश आतंकियों को माफ नहीं करेगा। घटना में बिहार के भी दो जवान शहीद हुए हैं और एक अभी भी घायल हैं। हम बिहारवासी घटना में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि देते हैं।

सुशील मोदी व पासवान बोले
– कार्यक्रम में प्रधानमंत्री का स्‍वागत उपमुख्‍यमंत्री सुशील मोदी ने किया।
– कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने कहा कि श्री बाबू के सपनों को प्रधानमंत्री पूरा कर रहे हैं।
लगे ‘भारत माता की जय’ के नारे
बरौनी में प्रधानमंत्री को देखने व सुनने के लिए भीड़ उमड़ पड़ी है। कार्यक्रम में ‘नमो अगेन’ लिखा टी-शर्ट पहन कर कुछ लोग पहुंचे। कार्यक्रम स्‍थल पर ‘भारत माता की जय’ के नारे लगाए गए।

इन योजनाओं का प्रधानमंत्री ने किया शिलान्‍यास
– बरौनी रिफाइनरी की क्षमता विस्तार योजना के तहत नौ मिलियन मीट्रिक टन प्रति वर्ष एवीयू की योजना का शिलान्यास। इसके माध्यम से पूर्वी भारत में पेट्रो उत्पादों की बढ़ती मांग को पूरा किया जाएगा।
– बरौनी रिफाइनरी में एटीएफ हाइड्रोलिक यूनिट का भी शिलान्यास। अमोनिया-यूरिया उर्वरक कांप्लेक्स का भी शिलान्यास।
– पटना मेट्रो रेल परियोजना का शिलान्यास। पटना जू के पास रिमोट से शिलान्यास।
– सीवरेज परियोजनाओं का शिलान्यास। पटना के करमली चक में सीवरेज नेटवर्क योजना स्थापित करने को केंद्र में रख 96.54 किमी लंबे नेटवर्क बिछाने की योजना का शिलान्यास।
– बाढ़, सुल्तानगंज तथा नवगछिया में सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट योजना का भी शिलान्यास।
– विभिन्न स्थानों पर 1424.14 करोड़ की लागत से 22 अमृत परियोजनाओं का शिलान्यास।
– छपरा में मेडिकल कॉलेज का शिलान्यास तथा भागलपुर व गया के सरकारी मेडिकल कॉलेज के उन्नयन योजना का शिलान्यास।

इन योजनाओं का किया उद्घाटन
– जगदीशपुर-हल्दिया और बोकारो-धामरा प्राकृतिक गैस पाइपलाइन परियोजना।
– पटना के शहरी क्षेत्र में 3,200 वर्ग किमी में 9.75 लाख घरों में पीएनजी तथा वाहनों के लिए सीएनजी आपूर्ति योजना का उद्घाटन।
– पटना रिवर फ्रंट डेवलपमेंट योजना फेज-1 के तहत 16 घाटों का उद्घाटन।
– रांची-पटना एसी साप्ताहिक ट्रेन का आरंभ।
– बरौनी-कटिहार-कुमेदपुर, मुजफ्फरपुर-सुगौली बेतिया-रक्सौल, फतुुहा-इस्लामपुर व बिहारशरीफ -दनियावां सेक्शन का विद्युतीकरण।