मप्र चुनाव : राजनीतिक दलों की बेचैनी खत्म, आज बनेगी नई सरकार

मप्र चुनाव : राजनीतिक दलों की बेचैनी खत्म, आज बनेगी नई सरकार

भोपाल। मप्र में लोकतंत्र का महापर्व आखिरी मुकाम पर पहुंच चुका है। इसी हवन कुंड से नतीजे के रूप में मंगलवार को नई सरकार और नया सरताज निकलेगा। प्रदेश में विस चुनाव के बाद राजनीतिक दल मतगणना के बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। 10 दिसंबर यानी सोमवार की रात प्रदेश के हजारों लोगों के लिए कयामत की रात रही।

करीब दो महीने के प्रचार अभियान और मशक्कत के बाद प्रत्याशियों ही नहीं, उनके समर्थकों को भी बस इस बात का इंतजार होगा कि 11 दिसंबर का सूरज उगे और जल्द से जल्द पता चले कि उनकी मेहनत कितनी कामयाब हुई। प्रदेश में किसकी सरकार बन रही है, कौन जीत रहा है, कौन हार रहा है, जिसे हमने वोट दिया वो प्रत्याशी जीत रहा है या हार रहा है। ऐसे न जाने कितने सवाल हैं, जिनके जवाबों की तलाश आज की रात न जाने कितने लोगों की नींद उड़ा कर रखेगी।

कांग्रेस, भाजपा जहां नतीजों के बाद सरकार बनाने के सपने देख रहे होंगे तो वहीं सपा, बसपा, गोंगपा जैसी पार्टियां और कई निर्दलीय किंग मेकर बनने की संभावनाएं भी तलाश रहे होंगे, लेकिन दो महीनों से प्रदेश की सियासी फिजा में तैर रहे ये सवाल लोगों को और भी ज्यादा विचलित करते रहे, उनका जवाब मंगलवार को ही मिल सकेगा। हजारों प्रत्याशियों में से जीत महज 230 लोगों के हाथ लगनी है, लेकिन मंगलवार की सुबह ये जानने की बेकरारी हर प्रत्याशी में होगी कि मतगणना के इस मंगल ने उसका मंगल किया या नहीं। उनके दिल में उम्मीद होगी कि नई सरकार प्रदेश में नया बदलाव लेकर आएगी, तो वहीं ये आशंका भी कि कहीं सत्ता ऐसे हाथों में न चली जाए जो प्रदेश को गर्त में ले जाए, लेकिन, ये सभी सवाल कयामत की इस रात को भयावह ही बनाएंगे क्योंकि इन सवालों के जवाब तो फैसले की सुबह यानी 11 दिसंबर के पास ही हैं।