लोकसभा चुनाव : पांचवें चरण में 62.56% मतदान, बंगाल फिर रहा अव्वल

Lok Sabha elections: 62.56% voting in fifth phase, Bengal again tops

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण में सोमवार को फिर बंगाल में ¨हसा की घटनाओं के बीच सबसे ज्यादा वोटिंग हुई। सात राज्यों की 51 सीटों पर औसत 62.5 फीसद मतदान हुआ। बंगाल में इस चरण में भी लगभग 74 फीसद वोट पड़े। मध्य प्रदेश, राजस्थान, झारखंड में भी अच्छा मतदान हुआ। वहीं बिहार व उत्तर प्रदेश में कुछ कम वोट पड़े। जम्मू-कश्मीर में लद्दाख सीट केलिए 64 फीसद मतदान हुआ।

पांचवें चरण का मतदान खत्म होने के साथ ही लोकसभा की 543 सीटों में से 424 सीटों पर चुनाव संपन्न हो गया। इसके बाद अब अगले दो चरणों 12 और 19 मई को 119 सीटों के लिए मतदान होगा। 23 मई को देश के भावी सियासी परिदृश्य से पर्दा उठ जाएगा। पांचवें चरण में राजनाथ सिंह, सोनिया गांधी, राहुल गांधी एवं स्मृति ईरानी सहित 674 उम्मीदवारों की किस्मत ईवीएम में कैद हो गई। उत्तर प्रदेश की हाई प्रोफाइल सीटें अमेठी में 53 फीसद, रायबरेली में 53.68 फीसद और लखनऊ में 53 फीसद मतदान हुआ।

लखनऊ में वोट डालने वालों में केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह, बसपा सुप्रीमो मायावती, उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा और बसपा महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा शामिल थे।करीब 9 करोड़ वोटरों ने पांचवें चरण के मतदान में भाग लिया है। पांचवें चरण में उत्तर प्रदेश की 14, राजस्थान की 12, पश्चिम बंगाल और मध्य प्रदेश की सात-सात, बिहार की पांच और झारखंड की चार सीटों के लिए मतदान हुआ।

जम्मू-कश्मीर में लद्दाख सीट के लिए भी वोटिंग हुई। वहीं, अनंतनाग सीट के लिए भी पुलवामा और शोपियां जिले में वोट डाले गए। जम्मू कश्मीर के अनंतनाग लोकसभा सीट पर तीन चरणों में चुनाव संपन्न हो गया है। पुलवामा के त्राल और रोहमू में आतंकियों ने मतदान केंद्रों पर ग्रेनेड फेंका। इसमें किसी के घायल होने की खबर नहीं है। अनंतनाग से पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती मैदान में हैं।

ईरानी ने राहुल पर बूथ कैप्चरिंग कराने का लगाया आरोप
अमेठी में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को दूसरी बार टक्कर दे रहीं भाजपा नेता स्मृति ईरानी ने ट्वीट कर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा बूथ कैप्चरिंग कराए जाने की शिकायत की। उन्होंने एक वीडियो भी शेयर किया, जिसमें एक वृद्धा कह रही थी कि उसके हाथ से जबर्दस्ती पंजे का बटन दबवाया गया, जबकि वह कमल का बटन दबाना चाहती थी।

पांचवें चरण में मतदान
राज्य सीटें वोटिंग फीसद
उत्तर प्रदेश 14 57.33
बिहार 5 57.86
पश्चिम बंगाल 7 74.42
जम्मू-कश्मीर 2 61.56
झारखंड 4 64.58
मध्यप्रदेश 7 65.00
राजस्थान 12 63.78

बंगाल फिर रहा अव्वल
शाम छह बजे तक पश्चिम बंगाल में सबसे ज्यादा 74.06 फीसद मतदान हुआ। चुनाव आयोग के मुताबिक, शाम छह बजे तक बिहार में लगभग 56.79 फीसद, मध्य प्रदेश में 62.96 फीसद, राजस्थान में 63.03 फीसद, उत्तर प्रदेश में 53.32 फीसद, झारखंड में 63.99 फीसद और जम्मू एवं कश्मीर में 17.07 फीसद मतदान दर्ज किया गया।

पांचवें चरण में ये बड़े चेहरे मैदान में
सोनिया गांधी :
सोनिया गांधी अपनी परंपरागत रायबेरली लोकसभा सीट से चुनाव लड़ रही हैं। इस सीट से वे तीन बार सांसद रह चुकी हैं। सोनिया से पहले इस सीट से दो बार पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी और एक बार फिरोज गांधी भी संसद चुने गए। इस बार सोनिया के खिलाफ भाजपा ने दिनेश प्रताप सिंह को उतारा है। सपा-बसपा गठबंधन ने कांग्रेस को समर्थन दिया और इस सीट से अपना कोई उम्मीदवार नहीं उतारा।

राहुल गांधी :
राहुल गांधी अमेठी और वायनाड से चुनाव लड़ रहे हैं। अमेठी से भाजपा ने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को दोबारा टिकट दिया है। स्मृति 2014 में चुनाव हार गई थीं। इस सीट से सपा-बसपा गठबंधन ने कोई उम्मीदवार नहीं उतारा।

राजनाथ सिंह :
राजनाथ सिंह एक बार फिर भाजपा का गढ़ कही जाने वाली लखनऊ सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। वे 2014 में भी इस सीट से चुनाव जीते थे। लखनऊ से पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी पांच बार सांसद रहे। सपा ने लखनऊ से शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी पूनम सिन्हा और कांग्रेस ने प्रमोद कृष्णम को टिकट दिया है।

जितिन प्रसाद :
जितिन प्रसाद धौरहरा संसदीय सीट से कांग्रेस के प्रत्याशी हैं। इस सीट से भाजपा ने रेखा वर्मा को उतारा है। बसपा से अरशद अहमद सिद्दीकी मैदान में हैं। यहां 2014 में भाजपा की रेखा वर्मा ने जीत दर्ज की थी।

राज्‍यवर्धन सिंह राठौर :
जयपुर ग्रामीण सीट से भाजपा ने केंद्रीय मंत्री और ओलिम्पिक पदक विजेता कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौड़ को दोबारा मैदान में उतारा है। उनके सामने कांग्रेस ने सादुलपुर से विधायक कृष्णा पूनिया को उतारा है। कृष्णा ने राष्ट्रमंडल खेल 2010 में डिस्कस थ्रो में स्वर्ण पदक जीता था।

राजीव प्रताप रूडी :
बिहार की सारण लोकसभा सीट का मुकाबला काफी दिलचस्प है। यहां भाजपा ने केंद्रीय मंत्री राजीव प्रताप रूडी को मैदान में उतारा है। दूसरी तरफ राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल प्रमुख लालू यादव के समधी चंद्रिका राय (राजद) पहली बार लोकसभा पहुंचने के लिए चुनाव लड़ रहे हैं। हालांकि, लालू के बेटे तेजप्रताप यादव इसके खिलाफ थे, वे अपनी पार्टी के प्रत्याशी और ससुर के खिलाफ प्रचार कर रहे हैं।