इंदौर, भोपाल की तरह जबलपुर भी विकास की दौड़ में होगा शामिल

नये नजरिये से हर क्षेत्र में मध्यप्रदेश के विकास का नक्शा तैयार : कमलनाथ
शिवाजी मैदान में आमसभा में मुख्यमंत्री
भोपाल। मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा है कि सरकार की नीति और नियत साफ है। प्रदेश सरकार ने नये नजरिये से हर क्षेत्र में मध्यप्रदेश के विकास का नक्शा तैयार कर अमली जामा पहनाना शुरू कर दिया है। कमल नाथ ने शनिवार को जबलपुर में कहा कि अब कोई भी क्षेत्र विकास की दृष्टि से उपेक्षित नहीं रहेगा। उन्होंने कहा कि जबलपुर में पहली बार मंत्रि-परिषद की बैठक और उसमें लिये गये निर्णयों का संदेश पूरे महाकौशल क्षेत्र में जायेगा। मुख्यमंत्री जबलपुर के शिवाजी मैदान में जबलपुर क्षेत्र के विकास कार्यों के लोकार्पण और शिलान्यास के बाद आम सभा को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि अब जबलपुर भी इंदौर और भोपाल जैसे महानगर की तरह विकास की दौड़ में शामिल होगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने अभी 53 दिनों में आम जनता से किये गये वचनों को पूरी शिद्दत के साथ निभाना प्रारंभ किया है। किसानों और नौजवानों से किये गये वचनों का शपथ लेने के बाद ही क्रियान्वयन प्रारंभ हुआ। करीब 25 लाख किसानों का अगले 16 दिनों में कर्जा माफ होने जा रहा है। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश कृषि क्षेत्र है, उद्योग और रोजगार की ताकत किसानों से ही जुड़ी है। कृषि क्षेत्र के लिये किसानों की क्रय शक्ति बढ़ाने नीति बनानी होगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों की मेहनत से फसलों के बढ़ते उत्पादन के प्रबंधन और किसान को कैसे ज्यादा लाभ प्राप्त हो, इसके लिये सरकार नीति बनाएगी। उन्होंने कहा कि नौजवानों के मन में आशाएँ हैं, आकांक्षाएँ हैं, जिनकी पूर्ति के लिये उनके हाथों को काम चाहिये। रोजगार के साधन तभी पैदा होते हैं जब औद्योगिक क्षेत्रों का निवेश भी बढ़े। सिहोरा और मण्डीदीप औद्योगिक क्षेत्रों में निवेश नहीं हो सका। सरकार औद्योगिक क्षेत्रों में विश्वास का वातावरण जागृत कर निवेश बढ़ायेगी और नौजवानों को रोजगार देगी।

जबलपुर जिला प्रभारी और ऊर्जा मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह ने कहा कि प्रदेश के गठन के बाद पहली बार संस्कारधानी जबलपुर में कैबिनेट की बैठक की गई है। करोड़ों रूपये के विकास कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास किया गया है।

सामाजिक न्याय मंत्री लखन घनघोरिया ने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार की केबिनेट की बैठक जाबालि ऋषि की तपोभूमि जबलपुर में होना महाकौशल क्षेत्र के लिये ऐतिहासिक पल है।

वित्त मंत्री श्री तरूण कुमार भनोत ने मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ द्वारा जबलपुर क्षेत्र के लिये दी गई विकास कार्यों की सौगातों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि जबलपुर केन्ट क्षेत्र में 237 एकड़ भूमि की सिविल और डिफेंस के बीच अदला-बदली का प्रस्ताव तैयार किया गया है। उन्होंने इस संबंध में मुख्यमंत्री से केन्द्र सरकार के स्तर पर आवश्यक पहल की माँग की।

राज्यसभा सदस्य विवेक कृष्ण तन्खा ने कहा कि जबलपुर फुटबाल का हब है यहाँ इंटरनेशनल स्तर का फुटबाल स्टेडियम बनाया जाये।
सभा में विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति और राज्य मंत्रि-परिषद सदस्य उपस्थित थे। प्रारंभ में मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ और मंत्रीमंडल के सदस्यों ने उपस्थित जन-समुदाय के साथ मौन रखकर पुलवामा में शहीद सैनिकों को श्रद्धांजलि अर्पित की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *