अप्रैल माह में चैत्र नवरात्रि के साथ नव संवत्सर का भी हो जायेगा आरंभ

In the month of April, there will be a new consolidation with Chaitra Navaratri.

14 अप्रैल को मनाई जायेगी राम नवमी
अप्रैल में चैत्र माह की प्रतिपदा से भारतीय नव वर्ष यानी कि नव संवत्सर की शुरुआत होती हैं। मान्यता है कि इसी दिन ब्रह्माजी ने सृष्टि का निर्माण किया था। इस वर्ष ये दिन 6 अप्रैल को पड़ रहा है। चैत्र नवरात्रि के साथ नव संवत्सर का भी आरंभ हो जायेगा। चलिए शुरू करें देवी की आराधना सिलसिला और जानें इस माह के सारे व्रत त्यौहार की सूची।

नवसंवत्सर और देवी का करें स्वागत
चैत्र माह की प्रतिपदा से भारतीय नव वर्ष यानी कि नव संवत्सर की शुरुआत होती हैं। मान्यता है कि इसी दिन ब्रह्माजी ने सृष्टि का निर्माण किया था। इस वर्ष ये दिन 6 अप्रैल को पड़ रहा है। चैत्र प्रतिपदा से ही देवी की पूजा को समर्पित नौ दिनों के नवरात्र भी आरंभ होते हैं। यानि बीते माह में शिव की पूजा करने के बाद भक्त अब उनकी अद्घार्गिनी माता शक्ति की उपासना करेंगे। 14 अप्रैल को राम नवमी मनाई जायेगी। आइये जानें की इसके अतिरिक्त अप्रैल 2019 के शेष सभी व्रत और त्यौहारों की पूरी सूची।

अप्रैल 2019 व्रत त्यौहार का कलेंडर
01- सोमवार, वैष्णव पापमोचिनी एकादशी
02- मंगलवार, प्रदोष व्रत
03- बुधवार, मासिक शिवरात्रि
04- बृहस्पतिवार, दर्श अमावस्या
05- शुक्रवार, चैत्र अमावस्या
06- शनिवार ,चन्द्र दर्शन, चैत्र नवरात्रि, गुड़ी पड़वा, युगादी
07- रविवार, झूलेलाल जयन्ती
08- सोमवार, गौरीपूजा, गणगौर, मत्स्य जयन्ती, मासिक कार्तिगाई
09- मंगलवार, विनायक चतुर्थी, लक्ष्मी पञ्चमी
10- बुधवार, स्कन्द षष्ठी, रोहिणी व्रत
11- बृहस्पतिवार, यमुना छठ
12- शुक्रवार, नवपद ओली प्रारम्भ
13- शनिवार, मासिक दुर्गाष्टमी, महातारा जयन्ती
14- रविवार, राम नवमी, सोलर नववर्ष, मेष संक्रान्ति, बैसाखी, पुथन्डू, अम्बेडकर जयन्ती
15- सोमवार, कामदा एकादशी, पहला वैशाख
16- मंगलवार, गौण कामदा एकादशी, वैष्णव कामदा एकादशी, वामन द्वादशी
17- बुधवार, प्रदोष व्रत, महावीर स्वामी जयन्ती
19- शुक्रवार, हनुमान जयन्ती, चैत्र पूर्णिमा, पूर्णिमा उपवास
20- शनिवार, वैशाख प्रारम्भ
22- सोमवार, संकष्टी चतुर्थी
26- शुक्रवार, कालाष्टमी
30- मंगलवार, बरूथिनी एकादशी, वल्लभाचार्य जयन्ती