राज्यपाल आनन्दीबेन स्वामी अखंडानन्द सरस्वती विशिष्ट अलंकरण व्यक्तित्व से सम्मानित

Governor Anandiben Swamy Akhandanand Saraswati honored with special decoration personality

भोपाल। राज्यपाल आनन्दीबेन पटेल को आज जबलपुर के ग्वारीघाट स्थित साकेत धाम में आयोजित भव्य समारोह में स्वामी अखंडानन्द सरस्वती विशिष्ट अलंकरण व्यक्तित्व से सम्मानित किया गया। राजीव लोचन ट्रस्ट द्वारा आयोजित इस समारोह की अध्यक्षता बाबा कल्याणदास ने किया।

इस अवसर पर सांसद दमोह प्रहलाद पटेल, विधायक विनय सक्सेना एवं अशोक रोहाणी, महापौर स्वाति सदानन्द गोडबोले, महाधिवक्ता राजेन्द्र तिवारी, स्वामी श्यामदेवाचार्य, स्वामी रामदेवानन्द सरस्वती, स्वामी राघवेन्द्राचार्य, स्वामी मुक्तानन्द, साध्वी ज्ञानेश्वरी दीदी, पूर्व महाधिवक्ता आर.एन. सिंह, पूर्व महापौर सुशीला सिंह सहित बड़ी संख्या में संत समाज और गणमान्य जन मौजूद थे।

राज्यपाल श्रीमती पटेल ने नर्मदा में बढ़ते प्रदूषण और कम होते जल प्रवाह पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि नर्मदा को निर्मल, अविरल और सदानीरा बनाये रखने के लिए पूरे समाज को प्रयास करना होगा। उन्होंने कहा खास तौर पर युवाओं में जल संरक्षण के प्रति देशज संस्कारों को पुनर्जीवित करना होगा।

राज्यपाल ने आगाह किया कि गंगा-यमुना नदियों की तरह नर्मदा नदी वर्फ के ग्लेशियरों से निकली नदी नहीं है। नर्मदा मुख्य रूप से मानसूनी वर्षा और अपनी सहायक नदियों के जल पर निर्भर नदी है, जो उसे सदानीरा बनाती है। इसमें से कई सहायक नदियाँ सूखने की कगार पर हैं। उन्होंने कहा हवन-पूजन सामग्री और मूर्तियों आदि का विसर्जन नदियों में नहीं कर उन्हें प्रदूषित होने से बचाया जा सकता है।
समारोह के आयोजक स्वामी गिरिशानंद सरस्वती ने राज्यपाल श्रीमती पटेल द्वारा किए गए नर्मदा सेवा और परिक्रमावासियों की सुविधा के लिए उनके मुख्य मंत्रित्वकाल में गुजरात में नर्मदा के मीठी तलाई क्षेत्र के दलदल वाले तट में पक्का सीमेन्टीकरण कार्य कराने की सराहना की। इससे परिक्रमावासी सुगमता से कीचड़ और दलदल में बिना गिरे नर्मदा के एक तट से दूसरे तट में सहजता से जाकर नर्मदा परिक्रमा कर पाते हैं।