इधर शराब दुकानें खुलते ही सुराप्रमियों की लंबी कतारें लगना शुरू हो गई। शराब वर्ष 2020-21 के नए रेट पर बेची गई। शराब खरीदने आए लोगों ने दुकान के सामने ही वाहन पार्क किए थे, इससे मुख्य मार्ग पर कई बार जाम की स्थिति बनी। नेहरू पार्क काम्पलेक्स स्थित देशी शराब की कलारी के सामने श्रमिक एवं झुग्गी बस्तियों में रहने वालों की लंबी लाइन नजर आई। लालघाटी एवं गांधीनगर में भी दुकान खुलते ही लोग शराब खरीदने उमड़ पड़े।

निर्धारित स्टॉक से कम मिली शराब की बोतलें

लंबे समय बाद दुकान खुलने के बावजूद दुकानों में ज्यादा माल नहीं था। लॉकडाउन के दौरान अवैध रूप से शराब बेचने की शिकायतें भी मिली थीं। सुराप्रेमियों को अपनी पंसद का ब्रांड नहीं मिल सका। लोगों ने फिलहाल जो ब्रांड मिला वही खरीद लिया। अगले दो-तीन दिन में नया माल आने की संभावना है। हालांकि ठेकेदारों से शराब दुकान लेने तथा उसकी गिनती करने में समय लगा, 50 प्रतिशत शराब दुकानों से बिक्री नहीं हो सकी। जांच में कुछ दुकानों पर अनियमितताएं मिली हैं, इनमें शराब स्टॉक से कम पाई गई है।

न्यू मार्केट में एक ही घंटे खुल सकी दुकानें

इधर न्यूमार्केट के जीटीवी कॉम्प्लेक्स स्थित विदेशी शराब दुकान सबसे लेट 6 बजे खुल सकी। यही नहीं दुकानों से शराब की गिनती में भी समय लगा। रात करीब 7 बजे तक बिट्ठन मार्केट की विदेशी, कोलार की देशी और विदेशी, संत हिरदाराम नगर की देशी और विदेशी, नेहरू नगर क्षेत्र की देशी और विदेशी शराब दुकानों से बिक्री शुरू हो गई थी। जिसे 8.30 पर बंद कर दिया गया।