फिरौती की रकम लेने के बाद भी स्कूल बस से अगवा दो बच्चों के शव यूपी के बांदा में मिले

Even after taking ransom money, the bodies of two kidnapped children from the school bus were found in Banda, UP.

बच्चों को बाइक पर बैठाकर फरार हुए थे दो नकाबपोश आरोपी
सतना/चित्रकूट। 12 फरवरी को चित्रकूट में स्कूल बस से तेल कारोबारी के जुड़वां बेटों का अपहरण करने वाले बदमाशों ने फिरौती की रकम लेने के बाद भी निर्मम हत्या कर दी। दोनों के शव उत्तर प्रदेश के बांदा जिले में मिले हैं। बताया जा रहा है कि मासूमों ने बदमाशों को पहचान लिया था, अपनी पहचान छुपाने के लिए उन्होंने बच्चों के हाथ बांधकर उन्हें नदी में फेंक दिया। बांदा के बबेरू में यमुना नदी के घाट पर दोनों के शव मिले। सतना एसपी ने इसकी पुष्टि की है। घटना में पुलिस ने 6 लोगों को गिरफ्तार किया है।

शव मिलने की सूचना के बाद चित्रकूट में तनाव की स्थिति निर्मित हो गई है। यहां एमपी और यूपी पुलिस के डेढ़ हजार से ज्यादा जवान तैनात किए गए हैं। घटना के बाद से ही बच्चों की तलाश हो रही थी, इसके लिए बड़ी संख्या में मध्यप्रदेश और उत्तर प्रदेश की पुलिस जंगलों में उनकी खोज में लगी थी।

चित्रकूट के जानकी कुंड स्थित सदगुरु ट्रस्ट द्वारा संचालित सदगुरु पब्लिक स्कूल (एसपीएस) के बाहर स्कूल बस से बाइक सवार दो नकाबपोश बदमाशों ने पिस्टल की नोक पर तेल व्यापारी ब्रजेश रावत (निवासी सीतापुर, चित्रकूट उप्र) के दो मासूम जुड़वा बेटों प्रियांश (5) और श्रेयांश (5) को अगवा कर लिया था। ब्रजेश रावत का चित्रकूट जिला उप्र में बड़े स्तर पर तेल का कारोबार है।

बताया जा रहा है कि अपहरणकर्ताओं को 20 लाख की फिरौती भी दी जा चुकी थी। शवों को पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया है और सतना तथा बांदा जिले की पुलिस एकसाथ कार्रवाई कर रही है। बच्चों की उम्र छह साल थी। उनका घर उत्तरप्रदेश के चित्रकूट धाम (कर्वी) के रामघाट में था। बच्चों के पिता बृजेश रावत तेल व्यवसायी हैं। दोनों बच्चे चित्रकूट (मप्र) के सद्गुरु पब्लिक स्कूल में पढ़ते थे। वे 12 फरवरी को दोपहर करीब एक बजे स्कूल की छुट्टी के बाद बस से घर लौट रहे थे। स्कूल परिसर में ही बाइक से आए दो नकाबपोश युवकों ने पिस्तौल दिखाकर बस को रोका और बच्चों को अगवा कर लिया था। यह वारदात सीसीटीवी में भी कैद हुई थी।

पुलिस ने 50 हजार का इनाम देने का ऐलान किया था
घटना के अगले ही दिन पुलिस ने आरोपियों का सुराग देने वाले को 50 हजार का इनाम देने का ऐलान किया था। इस मामले में कुछ संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है।