कांग्रेस विधायक केपी सिंह के समर्थक ने पिस्टल दिखाकर सांसद सिंधिया को धमकी दी

कांग्रेस विधायक केपी सिंह के समर्थक ने पिस्टल दिखाकर सांसद सिंधिया को धमकी दी

भोपाल/शिवपुरी। कमलनाथ मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिलने के कारण कांग्रेस में जबर्दस्त असंतोष देखा जा रहा है। हालात इतने गंभीर हो गए हैं कि कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को अपने ही ग्वालियर चंबल रीजन में जबर्दस्त नाराजगी झेलना पड़ रही है। ताजा मामले में सिंधिया को धमकी मिली है।

शिवपुरी के पिछोर से कांग्रेस विधायक केपी सिंह के एक समर्थक ने फेसबुक पर सिंधिया को धमकी दी है। अरनव प्रताप सिंह चौहान नामक इस समर्थक ने सिंधिया को पिछोर क्षेत्र में बैन करने की धमकी दे डाली। अपनी पोस्ट में उसने लिखा कि पिछोर विधानसभा क्षेत्र में सिंधिया पर बैन, भूल से भी पिछोर विधानसभा से गुजरने की गलती ना करें महाराज हो कौन हो, कक्काजू जिंदाबाद। इस पोस्ट में अरनव एक पिस्टल हाथ में लिए हुए नजर आ रहा है।

धमकी भरे मैसेज के बाद राजनीतिक गलियारों में हडकंप

इस धमकी भरे मैसेज के बाद राजनीतिक गलियारों में हडकंप मच गया है। सिंधिया समर्थकों ने उनकी सुरक्षा बढ़ाए जाने की मांग की है। इसके बाद पुलिस ने ग्वालियर से लगी भिंड, मुरैना, शिवपुरी जिलों की सीमा पर विशेष निगरानी रखी और भारी पुलिस बल तैनात किया गया ताकि विरोधी ग्वालियर में घुस ना पाए। इतना ही नहीं सिंधिया के निवास स्थान महल के आसपास भी सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए।

विधानसभा चुनावों से पहले भाजपा विधायक उमादेवी खटीक के बेटे ने भी सिंधिया को मारने की धमकी दी थी लेकिन इस बार ये धमकी सिंधिया को अपनी ही पार्टी विधायक के समर्थक ने दी है। जाहिर है इससे असंतोष का दायरा समझा जा सकता है।

कांग्रेस की 15 सालों बाद हुई सत्ता में वापसी

 कांग्रेस की 15 सालों बाद सत्ता में वापसी हुई तो ये साइड इफेक्ट नजर आ रहे हैं। मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिलने पर कई नेता खुले तौर पर नाराजगी जताते हुए राहुल गांधी, मुख्यमंत्री कमलनाथ, सिंधिया, दीपक बावरिया सहित अन्य बड़े नेताओं पर वादाखिलाफी का आरोप लगा रहे हैं। विरोध का आलम ये है कि ग्वालियर-चंबल क्षेत्र में अलर्ट घोषित करना पड़ा है। कांग्रेस विधायक एंदल सिंह कंसाना, केपी सिंह, जयस प्रमुख डॉ. हीरालाल अलावा के अलावा बसपा और सपा के नेता भी सार्वजनिक तौर पर असंतोष और नाराजगी जता चुके हैं।

गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव के पहले सिंधिया को दमोह जिले के हटा विधानसभा क्षेत्र से भाजपा की पूर्व विधायक उमा देवी खटीक के बेटे प्रिंसदीप लालचंद खटीक ने भी सोशल मीडिया पर एक पोस्ट के जरिए सिंधिया को गोली मारने की धमकी दी थी। विधायक के बेटे को इस मामले में गिरफ्तार भी किया गया था।