हाईकमान से लेकर प्रदेश स्तर पर चल रहा उम्मीदवारों पर मंथन

Congress ready to give chance to new faces in Lok Sabha elections

-नाथ का सर्वे लगाएगा अंतिम मुहर
– एआईसीसी करा रही लोकसभा सीटों का सर्वे
– 29 सीटों मे से कम से कम 20 सीटों पर जीत का लक्ष्य तय
– 16 लोकसभा सीटों से आ चुके हैं संभावित प्रत्याशियों के नाम

भोपाल। लोकसभा चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आते जा रहे हैं, वैसे-वैसे पार्टियों की गतिविधियां तेज होती जा रही हैं। जहां भाजपा प्रदेश में अपनी सीटें बरकरार करने के लिए ताकत झोंक रही है तो वहीं प्रदेश में डेढ़ दशक बाद सत्ता में लौटी कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव में 29 सीटों मे से कम से कम 20 सीटों पर जीत का लक्ष्य तय किया है। पार्टी आलाकमान से लेकर प्रदेश स्तर तक लोकसभा उम्मीदवारों के टिकटों के बंटवारे को लेकर मंथन चल रहा है। आॅल इंडिया कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) राजीव गांधी फाउंडेशन के सदस्यों से लोकसभा सीटों का सर्वे करा रही है। फाउंडेशन के सदस्य लोकसभा क्षेत्रों में पहुंचकर आम जनता से चर्चा कर जिताऊ उम्मीदवार का नाम खोजने में लगे हैं। यह टीम लोकसभा प्रत्याशियों के नाम कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को सौंपेगी। उधर, मुख्यमंत्री पर्सनल सर्वे करा रहे हैं। इसके साथ ही 16 लोकसभा सीटों से प्रभारियों ने लोगों से चर्चा के बाद बंद लिफाफे में संभावित प्रत्याशियों के नाम उनके पास आ चुके हैं। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने 16 लोकसभा सीटों की रायशुमारी करने के बाद साफ कर दिया है कि विधानसभा की तर्ज पर लोकसभा के टिकट भी सर्वे कराकर बांटेंगे। रायशुमारी के दौरान उन्हें लोकसभा प्रभारी और मंत्रियों ने जो संभावित नाम बंद लिफाफे में सौंपे हैं, उनका मिलान सर्वे से किया जाएगा। इसमें जिस प्रत्याशी का नाम पाया जाएगा, उसे टिकट दिया जाएगा। यदि रायशुमारी में नाम है और सर्वे में नहीं आता है तो पार्टी उसे टिकट नहीं देगी।

प्रभारियों और प्रभारी मंत्रियों से लिया फीडबैक
मुख्यमंत्री ने बीते सप्ताह में टीकमगढ़, सतना, बालाघाट, उज्जैन, रीवा, मंदसौर, होशंगाबाद, धार, शहडोल, बैतूल, सागर, खरगौन, मंडला, रतलाम, दमोह और विदिशा लोकसभा सीटों के लिए बनाए गए प्रभारियों तथा प्रभारी मंत्रियों से चर्चा कर फीडबैक ले लिया है। नाथ अब इन सीटों के साथ ही बची हुई 13 लोकसभा सीटों समेत सभी 29 सीटों पर सर्वे कराएंगे। इसके बाद रायशुमारी और सर्वे में जो नाम सामने आएगा, उसे टिकट दे दिया जाएगा।

सागर-खरगौन लोकसभा सीट पर रायशुमारी
मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सागर और खरगौन लोकसभा सीट पर पार्टी की चुनावी तैयारियों को लेकर लोकसभा प्रभारियों और संबंधित मंत्रियों से फीडबैक लिया है। सागर लोकसभा सीट से पार्टी पदाधिकारियों ने बंद लिफाफे में जिन लोगों के नाम सौंपें हैं, उनमें पूर्व मंत्री प्रभु सिंह ठाकुर, पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रदीप जैन, भूपेंद्र गुप्ता, भूपेंद्र सिंह मोहासा और पूर्व मंत्री प्रकाश जैन के नाम शामिल हैं। मुख्यमंत्री ने सागर लोकसभा सीट के अंतर्गत आने वाली कांग्रेस द्वारा जीती गई विधानसभा सीटें और अन्य वे सीटें जिन पर कांग्रेस कितने वोटों से हारी है, वहां की जानकारी भी ली है। कांग्रेस पार्टी सागर लोकसभा सीट 1991 के बाद नहीं जीत पाई है, इस दौरान आनंद अहिरवार ने जीत दर्ज की की थी। इसके बाद यह सीट सामान्य हो गई और बीते 28 सालों से इस पर भाजपा ही जीतती रही।

लगातार चल रहा बैठकों का दौर
कमलनाथ ने कहा कि लोकसभा चुनाव जीतेंगे, तो ही आगे मजबूत रहेंगे, इसलिए किसी भी सूरत में जीतना चाहिए। आपसी झगड़े आप जानो, लेकिन मुझे किसी की गड़बड़ी की शिकायत नहीं मिलनी चाहिए। यूं बड़े नेता होने का दावा करते हैं, लेकिन बूथ जीतोगे तो बड़े नेता। वरना, मैं किसी को बड़ा नेता नहीं मानता। दरअसल, मुख्यमंत्री कमलनाथ अब संगठन को मजबूत करने में भी जुटे हैं। लोकसभा चुनाव में भी नाथ विधानसभा की ही तरह बेहतर प्रदर्शन चाहते हैं। ऐसे में वे लगातार समीक्षा कर रहे हैं।

लोकसभा के रण में मिलेगा युवाओं को मौका
इस बार होने वाले लोकसभा चुनाव में कांग्रेस युवाओं पर दांव खेल सकती है। इसे लेकर कांग्रेस के पदाधिकारी लोकसभा चुनाव में युवाओं को मौका देने पर विचार कर रहे हैं। हालांकि यह फैसला केंद्रीय नेतृत्व और सर्वे की रिपोर्ट के आधार पर होगा, लेकिन युवक कांग्रेस को भरोसा है कि जिस तरह विधानसभा चुनाव में युवाओं को मौका दिया गया था, ठीक वैसे ही लोकसभा के रण में भी उन्हें अवसर दिया जाएगा।
कांग्रेस युवा मोर्चा के अध्यक्ष कुणाल चौधरी का कहना है कि युवाओं को टिकट देने का फैसला राष्ट्रीय नेतृत्व करेगा। उन्होंने कहा कि यह फैसला पार्टी द्वारा कराए गए सर्वे के आधार पर होगा और मुख्यमंत्री कमलनाथ तय करेंगे। उन्होंने कहा कि युवक कांग्रेस पूरी मजबूती के साथ लोकसभा चुनाव में काम करेगी। वरिष्ठों के मार्गदर्शन में युवाओं की ऊर्जा का उपयोग करके प्रदेश की 29 की 29 लोकसभा सीटें कांग्रेस जीतेगी। उन्होंने कहा कि इस बार राहुल गांधी को प्रधानमंत्री बनाने के लिए पूरी ताकत झोंक देंगे और इस बार कांग्रेस के पक्ष में जनादेश आएगा।