एटीकेटी का मामला : कन्या महाविद्यालय की छात्राओं ने घेरी मंत्री पटवारी की कार

ATKT case: girls college girls hoarse minister patwari's car

रतलाम। विक्रम विश्वविद्यालय के बीकॉम फिफ्थ सेमेस्टर की परीक्षा में आयकर विषय में सभी विद्यार्थियों को फैल कर एटीकेटी देने का मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है। शनिवार को सैलाना जाते वक्त प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी को शहर की कन्या महाविद्यालय की छात्राओं ने बंजली बायपास पर घेर लिया। जैसे ही उनका वाहनों काफिला आया। सड़क के बीच जाकर खड़ी हो गई। छात्राएं अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के नेतृत्व में पहुंचीं थी।

एबीवीपी के नेता नारेबाजी करने लगे तो मंत्री कार से बाहर निकले और कार पर खड़े होकर पहले नेताओं को चुप कराया। फिर कहा एक-एक से बात करूंगा। फिर छात्राओं की समस्या सुनी। छात्राओं ने समस्या बता कर दोबारा मूल्यांकन की मांग कर दोषी अधिकारियों के खिलाफ जांच की मांग की।

सर्किट हाउस पर उच्च शिक्षा मंत्री का सुबह से इंतजार करती रही छात्राएं 

इसके पहले छात्राएं सर्किट हाउस पर उच्च शिक्षा मंत्री का सुबह से इंतजार करती रही, लेकिन जब उन्हें पता चला कि वह शहर के बाहर बायपास होकर निकल रहे हैं तो सभी छात्राएं बंजली बायपास मेडिकल कॉलेज के पास पहुंच गई। जैसे ही पुलिस-प्रशासन के अधिकारियों को ये जानकारी ले तो वो भी मौके पर पहुंचे। जैसे ही मंत्री पटवारी का काफिला यहां पहुंचा तो छात्राएं और एबीवीपी के नेता बीच सड़क पर आकर खड़े हो गए और नारेबाजी करने लगे। छात्राओं को नारेबाजी करते देख मंत्री पटवारी कार से बाहर आए और छात्राओं की बात सुनने लगी।

पूरे मामले की कराएंगे जांच 

उच्च शिक्षा मंत्री ने छात्राओं को आश्वस्त किया कि वो 2 दिन में पूरे मामले की जांच कराएंगे। पहले जो भी गड़बड़ियां विक्रम विश्वविद्यालय में हुई है उनको देखते हुए पूर्व के कुलपति को हटाकर धारा 52 लगा चुके हैं। जो भी दोषी होगा उस पर कार्रवाई की जाएगी। मंत्री के आने के पहले छात्राओं ने विक्रम विश्वविद्यालय के खिलाफ भी नारेबाजी की।

बता दें कि शहर के शासकीय कन्या महाविद्यालय और स्वामी विवेकानंद शासकीय वाणिज्य महाविद्यालय में बीकॉम पंचम सेमेस्टर के अधिकतर विद्यार्थियों को आयकर विषय में फेल कर एटीकेटी दे दी है विद्यार्थियों का कहना है कि विश्वविद्यालय द्वारा पुनर्मूल्यांकन में गड़बड़ी की गई है।