असम में जहरीली शराब पीने से 15 महिलाओं समेत 25 की लोगों मौत, दो अफसर निलंबित

25 orang, termasuk 15 wanita, meninggal dunia selepas meminum arak beracun di Assam, dua orang pegawai digantung

कई लोगों की हालत गंभीर, बढ़ सकती है मृतकों की संख्या

गुवाहाटी। उप्र के बाद असम से जहरीली शराब से मौत होने का मामला सामने आया है। असम के गोलाघाट जिले में जहरीले शराब पीने से 25 लोगों की मौत हो गई है।जहरीली शराब पीने के कारण बीमार पड़े लोगों को सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां कई लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है। सरकारी अस्पताल के डॉक्टर दिलीप राजवंशी ने बताया कि जहरीली शराब पीने से लोग बीमार पड़े। बीती रात चार लोगों को मृत लाया गया। 40 से ज्यादा लोग अब भी बीमार हैं। पुलिस ने शुक्रवार को बताया कि घटना गुरुवार रात यहां से 300 किलोमीटर दूर गोलाघाट में सलमोरा चाय बागान की है। राज्य सरकार ने घटना पर दुख जताते हुए आबकारी विभाग के दो अधिकारियों को निलंबित कर दिया है।

गोलाघाट जिले के स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त निदेशक (ज्वाइंट डायरेक्टर) रातिन बोरदोलोई ने बताया, ह्यमृतकों में 15 महिलाएं और 10 पुरुष हैं। 18 लोगों की मौत गोलाघाट जिला अस्पताल में हुई है। उन्होंने बताया, ह्यशराब पीने के बाद लोगों ने उल्टी आने और सीने में दर्द होने की शिकायत की थी। इसके बाद उन्हें अस्पताल पहुंचाया गया। हम लोगों ने उन्हें बचाने के पूरे प्रयास किए, लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। वहीं, जोरहाट अस्पताल के डॉक्टरों ने बताया, ह्यइलाज के लिए कुल 55 लोगों को जोरहाट मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल रेफर किया गया था। इनमें से सात की इलाज के दौरान मौत हो गई, जबकि अन्य 48 का अभी इलाज चल रहा है।

एक ही दुकान से खरीदा गया था शराब का स्टॉक
स्थानीय लोगों का कहना है कि गुरुवार रात चाय बागान में कुछ लोगों ने शराब पी थी। इन लोगों ने एक ही दुकान से शराब खरीदी थी। शराब पीने के बाद कुछ लोगों की हालत तुरंत बिगड़ गई। स्थानीय लोगों का कहना है कि पुलिस और अवैध शराब विक्रेताओं की मिलीभगत है। पुलिस की शह पर ही इलाके में अवैध शराब बेची जा रही है।

मुख्यमंत्री ने घटना पर दुख जताया, आबकारी मंत्री ने तीन दिन में रिपोर्ट मांगी
असम के मुख्यमंत्री सबार्नंद सोनोवाल ने घटना पर दुख जताया है। उन्होंने हालात का जायजा लेने के लिए जिले में एक टीम को भेजा है। प्रदेश के आबकारी मंत्री परिमल शुक्ला बैद्य ने मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं। उन्होंने कहा कि जांच समिति को तीन दिन के भीतर सरकार को अपनी रिपोर्ट सौंपनी है। शुक्लाबैद्य ने कहा, ह्यराज्य सरकार ने घटना के लिए जिम्मेदार आबकारी विभाग के दो अधिकारियों को निलंबित कर दिया है। हमने आबकारी विभाग के अतिरिक्त आयुक्त संजीब मेधी की अगुआई में चार सदस्यीय टीम गठित की है, जो इस घटना की जांच करेगी। जांच रिपोर्ट के आधार पर, खामियां दूर करने के लिए राज्य भर में कड़े कदम उठाए जाएंगे।