प्रदेश के कई हिस्सों में जोरदार बारिश, भारी बारिश का अलर्ट 

प्रदेश के कई हिस्सों में जोरदार बारिश, भारी बारिश का अलर्ट
भोपाल। बीते 24 घंटों में राजधानी भोपाल समेत पूरे प्रदेश में मूसलाधार बारिश का दौर जारी है। भारी बारिश से निचले इलाकों में बाढ़ की स्थिति है तो तीन लोगों की मौत भी हुई है। जिसके बाद सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर बारिश और बाढ़ से हताहत हुए लोगों को श्रद्धांजलि दी है और लोगों से मदद करने की अपील की है। मौसम विभाग के अनुसार, बंगाल की खाड़ी के पश्चिमोत्तर और उड़ीसा में बने कम दबाव के क्षेत्र के चलते बारिश हो रही है। सोमवार शाम और मंगलवार की सुबह कई स्थानों पर जोरदार बारिश हुई। बीते 24 घंटों के दौरान भोपाल में 152.9 मिलीमीटर, जबलपुर में 57 मिलीमीटर, रायसेन में 164.6 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। इस जोरदार बारिश से राजधानी सहित अन्य स्थानों की निचली बस्तियों में पानी भर गया और जनजीवन प्रभावित हो रहा है। वहीं मौसम विभाग ने आगामी 24 घंटों में राज्य के कई हिस्सों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है।
राजधानी में ढाया कहर, कई इलाके जलमग्न, तीन की मौत
 राजधानी भोपाल में सोमवार रात से हुई तेज बारिश रात भर कहर बनकर बरसी। भारी बारिश के कारण राजधानी की निचली बस्तियां जलमग्न हो गर्इं। साथ ही सडकों पर लबालब पानी भर गया है। पिछले 24 घंटे में अबतक 154 मिमी बारिश दर्ज की गयी है। कमलापार्क इलाके में एक मकान गिरने से तीन लोगों की मौत हो गई।
रात भर हुई भारी बारिश के कारण राजधानी की कई बस्तियों में अभी भी पानी भरा हुआ है, वहीं कई इलाकों का मुख्य सड़कों से संपर्क टूट गया है, हालांकि सुबह से बारिश बंद होने के कारण रहवासियों ने राहत की सांस ली हैं। लेकिन अभी भी कई इलाकों में पानी भरा हुआ है, तो वहीं भारी बारिश की वजह से कमलापार्क इलाके में एक मकान की दीवार गिरने से दो बच्चों समेच तीन लोगों की मौत हो गई।
सीएम ने ट्वीट कर की अपील, कहा- जरूरतमंदों की करें मदद
प्रदेश में बारिश के मिजाज को देखते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने ट्वीट करते हुए लिखा कि भोपाल सहित मध्यप्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में बारिश और बाढ़ से हताहत हुए लोगों को श्रद्धांजलि। स्थिति पर लगातार हमारी नजर है। नागरिकों की मदद की जा रही है। आप सभी से मेरी अपील है कि कोई विषम परिस्थितियों में दिखे तो आप भी क्षमता अनुसार उसकी मदद करें।
गौरतलब है कि, रविवार को ही मौसम विभाग ने आगामी दो दिनों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया था। जिसके बाद सोमवार से ही मूसलाधार बारिश हो रही है। वहीं सोमवार को कमलापार्क इलाके में मकान का दीवार गिर जाने से एक महिला सहित दो बच्चों की मौत हो गई तो कई अन्य घायल भी हैं। वहीं दूसरी ओर शहर के काजी कैंप टीला जमालपुरा के पास नाले में 15 साल का बच्चा बह गया है जिसकी तलाश में पुलिस और नगर निगम का अमला जुट चुका है।
ये रहा मौसम
राज्य में हुई बारिश से मौसम सुहावना हो गया है। मंगलवार को भोपाल का न्यूनतम तापमान 23.8 डिग्री, इंदौर का 22 डिग्री, ग्वालियर का 22.8 डिग्री और जबलपुर का न्यूनतम तापमान 23.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं सोमवार को भोपाल का अधिकतम तापमान 28.5 डिग्री, इंदौर का 26.3 डिग्री, ग्वालियर का 33.5 डिग्री और जबलपुर का अधिकतम तापमान 30.1 डिग्री सेल्सियस रहा।
12 घंटे से जारी है बारिश का कहर, कई संपर्क मार्गों पर यातायात हुआ बंद, निचली बस्तियों में भरा पानी
रायसेन। जिले में 12 घंटे लगातार बारिश से रायसेन का हाल बेहाल हो गया है। वहीं निचली बस्तियों और घरों में पानी भर जाने से हालात बद से बदतर हो गए हैं। रायसेन का सभी जिलों से संपर्क टूट गया है, वहीं यात्री भी नाले के दोनों तरफ फंसे हुए है ,जिससे यात्रियों को काफी परेशानी परेशानी का सामना करना पड़ रहा। रायसेन में मात्र 12 घंटे की बारिश ने केरल जैसे हालात पैदा कर दिए हैं जहां देखो वहां सिर्फ पानी ही नजर आ रहा है। निचली बस्तियों और घरों में पानी भर जाने से हालात खराब होते दिख रहे हैं। वही रायसेन जिले का संपर्क सभी जगह से टूट गया है। रायसेन से भोपाल मार्ग पर दरगाह शरीफ के पास 12 फीट पानी भर गया है तो विदिशा जाने वाली कोड़ी नदी पर 15 फीट से ऊपर पानी बह रहा है ।यहां तक की   टोल टैक्स नाके पर भी 3 फीट पानी अभी भी है।
जानकारी के मुताबिक रात में एक मोटरसाइकिल सवार बह गया था जिसे रायसेन पुलिस, एनडीआरएफ की टीम और कुछ युवाओं ने मिलकर कर बचाया और जिला अस्पताल में इलाज कराने के बाद उसके रिश्तेदार के यहां छोड़ दिया, वहीं रास्ता जाम होने के कारण यात्री परेशान हो रहे हैं यात्रियों का कहना है कि हम दो-तीन नाले पार करते हुए आ गए मगर अब रायसेन दरगाह पर खड़े हैं यहां तक एंबुलेंस भी पानी भर जाने के कारण आगे नहीं बढ़ पा रही है।
रायसेन कलेक्टर एस प्रिया मिश्रा, पुलिस अदिक्षक जगत सिंह राजपूत और रायसेन रऊट एम पी भी सारी रात मौजूदा हालात पर नजर रखे हुए है। वहीं एनडीआरएफ की टीम ने रेस्क्यू करके सागर मार्ग पर बने अमरावद घाटी के नाले से 5 लोगों को रेस्क्यू कर बाहर निकाला।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *